डॉलर के मुकाबले सबसे नीचे आया रुपया, RBI डिप्टी गवर्नर


डी पात्रा ने कहा कि रुपये की विनिमय दर में कमी को देखेंगे तो पाएंगे कि यह उन मुद्राओं में शामिल है जिनमें दुनिया में मूल्य ह्रास सबसे कम हुआ है। इसका कारण विदेशी मुद्रा भंडार का मजबूत होना है। RBI deputy governor Michael Patra india inflation fight will not be painless sharp fluctuations rupee -Newzshala – खबरों की पाठशाला

डॉलर के मुकाबले रुपया हर दिन नए निचले स्तर को छु रहा है। अब भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के डिप्टी गवर्नर माइकल डी पात्रा ने इस पर प्रतिक्रिया दी है। डी पात्रा ने कहा कि रुपये में तेज उतार-चढ़ाव नहीं होने दिया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि हाल के समय में अन्य मुद्राओं की तुलना में रुपये की विनिमय दर में गिरावट सबसे कम रही है।

डी पात्रा ने कहा कि यदि रुपये की विनिमय दर में कमी को देखेंगे तो पाएंगे कि यह उन मुद्राओं में शामिल है जिनमें दुनिया में मूल्य ह्रास सबसे कम हुआ है। इसका कारण इसके पीछे 600 अरब डॉलर के विदेशी मुद्रा भंडार की ताकत है।

विदेशी मुद्रा भंडार पर क्या बोले:  आरबीआई के डिप्टी गवर्नर डी पात्रा ने कहा कि भारत के पास करीब 600 अरब डॉलर का विदेशी मुद्रा भंडार है जो काफी अधिक है और यही वजह है कि रुपये की विनिमय दर में बहुत अधिक गिरावट नहीं आई।

आपको बता दें कि गुरुवार को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया अपने रिकॉर्ड निचले स्तर 78.32 पर बंद हुआ था। हालांकि शुक्रवार को शुरुआती कारोबार में यह डॉलर के मुकाबले 12 पैसे चढ़कर 78.20 पर खुला

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *