बजट में बुनियादी ढांचे पर जोर से पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा


केंद्रीय बजट में बुनियादी ढांचा के निर्माण पर जोर है और इससे घरेलू तथा अंतरराष्ट्री सैलानियों के लिएसंपर्क सुविधा बेहतर होगी एवं पर्यटन क्षेत्र की वृद्धि में मदद मिलेगी। पर्यटन सचिव अरविंद सिंह ने यह बात कही।Promotion of tourism with emphasis on infrastructure in the budget – Newzshala – खबरों की पाठशाला

 

मंत्रालय के लिए बजट आबंटन के बारे में मीडिया को जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि 2021-22 के लिए बजट में पर्यटन मंत्रालय के लिए 2,026.77 करोड़ रुपये का आबंटन किया गया है। यह 2020-21 के संशोधित बजट अनुमान 1,260 करोड़ रुपये से ज्यादा है। सचिव ने कहा, प्रस्तावित 2,026.77 करोड़ रुपये के बजट आबंटन में से करीब 950 करोड़ रुपये का उपयोग विभिन्न राज्यों में अलग-अलग स्थानों पर पर्यटन से जुड़ी ढांचागत सुविधाओं को सृजित करने में किया जाएगा। सिंह ने कहा कि शेष राशि का उपयोग अन्य योजनाओं के वित्त पोषण में किया जाएगा। इनमें सेवा प्रदाताओं के लिये क्षमता निर्माण समेत अन्य योजनाएं शामिल हैं। उन्होंने कहा, ”हमें भरोसा है कि बजट में जिस तरीके से बुनियादी ढांचा पर जोर दिया गया है, उससे घरेलू और अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए संपर्क सुविधा बेहतर होगी। एक्सप्रेसवे के विकास से इन मार्गों पर स्थित पर्यटन स्थलों के लिए संपर्क सुविधा अच्छी होगी। इससे पर्यटन क्षेत्र के विकास को गति मिलेगी।

 

सबसे कम निवेश पर पर्यटन में ज्यादा रोजगार

मंत्रालय के मुताबिक इस साल बजट में करीब 670 करोड़ रुपये पर्यटन को बढ़ावा देने वाली गतिविधियों में खर्च किए जाएंगे। विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना संकट में सबसे अधिक मार झेलने वाले पर्यटन के लिए सरकार की यह कोशिश पासा पलटने वाली साबित हो सकती है। विशेषज्ञों का कहना है कि पर्यटन में प्रति 10 लाख रुपये के निवेश से 75 लोगों को रोजगार मिलता है जो अन्य क्षेत्रों से अधिक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *