Ghaziabad Crime News : कटहल खराब निकलने पर सब्जी विक्रेता की बेरहमी से हत्या, तमाशबीन बने रहे लोग


घायल सब्जी विक्रेता को परिजन आनन-फानन में अस्पताल ले गए, जहां इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया। मृतक के बेटे की शिकायत पर पुलिस ने गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी है। Vegetable seller murdered in Ghaziabad for dispute over jackfruit -Newzshala – खबरों की पाठशाला



गाजियाबाद के मधुबन बापूधाम थानाक्षेत्र के मोरटा गांव में कथित तौर पर कटहल खराब निकलने पर युवक ने ठेली पर लगी एलईडी लाइट के स्टैंड से सब्जी विक्रेता के सिर पर ताबड़तोड़ वार कर उसे मौत के घाट उतार दिया। घटना के बाद आरोपी मौके से फरार हो गया। घायल सब्जी विक्रेता को परिजन आनन-फानन में अस्पताल ले गए, जहां इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया। मृतक के बेटे की शिकायत पर पुलिस ने गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी है।

मूलरूप से हरदोई निवासी 38 वर्षीय अनिल कुमार करीब 20 साल से मधुबन बापूधाम थानाक्षेत्र के गांव मोरटा में रह रहा था। वह गांव में सब्जी की ठेली लगाकर परिवार की गुजर-बसर करता था। गुरुवार को भी अनिल ने सब्जी की ठेली लगाई हुई थी। देर रात गांव का ही संदीप त्यागी अनिल के पास सब्जी खरीदने आया। वह कटहल खरीदकर घर चला गया, उसने घर जाकर देखा तो कटहल खराब निकला।

इससे तैश में आकर संदीप दोबारा ठेली पर पहुंचा और अनिल पर खराब सब्जी देने का आरोप लगाया। अनिल ने उसके आरोप को गलत बताया और कटहल वापस लेकर पैसे लौटाने की बात कही। आरोप है कि इसके बावजूद संदीप का गुस्सा शांत नहीं हुआ। उसने ठेली पर रोशनी के लिए लगी एलईडी लाइट का स्टैंड उठाया और अनिल के सिर पर ताबड़तोड़ वार करने शुरू कर दिए।

बेहोश होने तक करता रहा हमला

परिजनों का आरोप है कि संदीप त्यागी अनिल के सिर पर एलईडी के स्टैंड से तब तक हमला करता रहा, जब तक वह बेहोश होकर जमीन पर नहीं गिर गया। इसके बाद आरोपी मौके से फरार हो गया। घटना की सूचना मिलने पर परिजन मौके पर पहुंचे और अनिल को कैलाश अस्पताल में भर्ती कराया। हालत गंभीर होने के चलते आईसीयू वार्ड में शिफ्ट किया गया। परिजनों की सूचना पर पुलिस अस्पताल में पहुंची और परिजनों से घटना की जानकारी ली।

नौ घंटे बाद तोड़ दिया दम

परिजनों के मुताबिक, सब्जी विक्रेता अनिल कुमार पैरालाइज्ड थे। घटना के बाद उनकी हालत शुरू से ही नाजुक बनी हुई थी। अस्पताल में नौ घंटे तक जिंदगी और मौत से जूझने के बाद अनिल ने शुक्रवार सुबह दम तोड़ दिया। घटना के बाद पीड़ित परिवार में कोहराम मच गया। पुलिस ने दोपहर बाद पंचनामाभर शव पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया। परिजनों ने हत्या का आरोप लगाते हुए संदीप त्यागी के खिलाफ लिखित में शिकायत दी है।

तमाशबीन बने रहे लोग

बताया जा रहा है कि जिस वक्त संदीप त्यागी सब्जी विक्रेता के साथ मारपीट कर रहा था, उस वक्त काफी संख्या में लोग मौके पर मौजूद थे, लेकिन वह तमाशबीन बने रहे। किसी ने भी अनिल को बचाने की कोशिश नहीं की। पुलिस का कहना है कि अगर लोग हिम्मत दिखाते तो अनिल की जान बच सकती थी। हालांकि, आरोपी के फरार होने के बाद मौके पर मौजूद लोगों ने अनिल के पास जाकर झूठी सहानुभूति बटोरने की कोशिश की।
 
सीओ कविनगर अवनीश कुमार ने बताया कि मारपीट में घायल सब्जी विक्रेता को अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है। मृतक के बेटे निखिल की शिकायत पर संदीप त्यागी के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज कर लिया गया है। आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस दबिश दे रही है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *