ताने, अपमान और रुकावटें; वसुंधरा राजे बोलीं- महिलाओं को करना पड़ता है संघर्ष


राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा की वरिष्ठ नेता वसुंधरा राजे ने शुक्रवार को कहा कि आज भी महिलाओं को आगे बढ़कर काम करने में परेशानियां आती है और कोई भी क्षेत्र हो उन्हें संघर्ष करना पड़ता है। vasundhara raje says women face struggle in every field – Newzshala – खबरों की पाठशाला


राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने शुक्रवार को कहा कि आज भी महिलाओं को आगे बढ़कर काम करने में परेशानियां आती है और कोई भी क्षेत्र हो उन्हें संघर्ष करना पड़ता है। राजे प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की प्रथम मुख्य प्रशासिका जगदंबा सरस्वती के 57वें स्मृति दिवस के उपलक्ष्य में आबू रोड में आयोजित समारोह को संबोधित कर रहे थीं।

वसुंधरा ने कहा, ‘आज भी महिलाओं को आगे बढ़कर काम करने में जो परेशानियां आती है, वह किसी से छिपी नहीं है। कोई भी क्षेत्र हो, महिलाओं को संघर्ष के कठिन दौर से गुजरना पड़ता है।’ उन्होंने कहा, ”कहने को तो समाज में महिलाओं का बराबरी का दर्जा है लेकिन आज भी हमारी बहनों को आगे बढ़ने के इतने मौके नहीं मिल पाते, जितने मिलने चाहिए। इन हालात में कोई दूसरा नहीं हम बहनें ही बदलाव करेंगी। बस जरूरत है बहनों को अपनी आवाज बुलंद करने की।”

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘भले ही महिला सशक्तिकरण के कितने ही दावे किए जाएं लेकिन आज भी सार्वजनिक जीवन में बहनों के लिए कदम-क़दम पर अवरोध है। कदम-कदम पर ताने हैं। कदम-कदम पर अपमान है।’ उन्होंने मातेश्वरी जगदंबा सरस्वती का उदाहरण देते हुए कहा कि उनका व्यक्तित्व समस्त नारी जगत के लिए गौरव की बात है। उन्होंने कहा,’ भगवान का स्मरण कर अच्छे कर्म किए जाओ,परिणाम अच्छे ही आयेंगे,फिर आप सबको आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *