गहलोत के मंत्री का मध्यावधि चुनाव पर पलटवार, महेश जोशी ने कहा- भाजपा मुंगेरीलाल का सपना देखने के लिए स्वतंत्र; जानें मामला


भाजपा नेताओं के राजस्थान में मध्यावधि चुनाव के बयान के बाद जलदाय मंत्री महेश जोशी ने पलटवार किया है। मंत्री महेश जोशी ने कहा कि भाजपा मुंगेरीलाल के हसीन सपने देख रही है। जनता करारा जवाब देगी। Gehlot minister Mahesh Joshi accuses BJP of horse trading in Rajasthan.

भाजपा नेताओं के राजस्थान में मध्यावधि चुनाव के बयान के बाद जलदाय मंत्री महेश जोशी ने पलटवार किया है। मंत्री महेश जोशी ने कहा कि भाजपा मुंगेरीलाल के हसीन सपने देख रही है। भाजपा को जनता करार जवाब देगी। उल्लेखनीय है कि हाल में बीजेपी के पूर्व प्रदेश अरुण चतुर्वेदी ने कहा कि ने कहा था कि राजस्थान में आंतरिक संघर्ष चल रहा है। हमें मध्यावधि चुनाव की ओर ले जा रहा है। चतुर्वेदी ने कहा कि कांग्रेस में नेताओं के मतभेद चरम पर है। जिसके चलते राजस्थान में मध्यावधि चुनाव की आशंका है। चतुर्वेदी के जवाब में मंत्री महेश ने कहा कि ऐसा बयान देकर भाजपा के नेता भारतीय जनता पार्टी के चाल और चरित्र को उजागर कर रहे हैं। एक सवाल के जवाब में महेश जोशी ने कहा कि विधायकों की खरीद-फरोख्त मामले में एसीबी ने केंद्रीय मंत्री शेखावत को नोटिस देने में देरी कर दी है। दो साल पहले मामला दर्ज कराया था। 

 

जोशी बोले- भाजपा को फिर देंगे जवाब 

राजधानी जयपुर में मीडिया से बात करते हुए महेश जोशी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी शुरू से यह कह रही है कि भाजपा के लोग खरीद-फरोख्त और हॉर्स ट्रेडिंग में माहिर हैं, नहीं तो वो किस आधार पर मध्यावधि चुनाव की बात करते। उन्होंने कहा कि हॉर्स ट्रेडिंग भाजपा के दिमाग में चल रही है और इससे पहले भी भाजपा ने महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, कर्नाटक में खेल दिखाया और गुजरात राज्यसभा चुनाव में भी इसी तरीके से खरीद-फरोख्त की, लेकिन राजस्थान के विधायक और राजस्थान की जनता ने भाजपा की कोशिशों को पहले भी करारा जवाब दिया है और आगे भी देगी। उन्होंने आगे कहा कि अगर इस तरह की कोशिश भाजपा के नेताओं की ओर से होगी तो उन्हें करारा जवाब मिलेगा। महेश जोशी ने कहा कि मध्यावधि चुनाव एक तरह से भाजपा के मुंगेरीलाल के सपने हैं और सपना देखने के लिए कोई भी स्वतंत्र है। राजस्थान की जनता एकजुट होकर राजस्थान के विकास को देख रही है। गवर्नेंस को देख रही है और राहत के कामों को देख रही है।

शेखावत को नोटिस देने में देरी कर दी 

केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत को नोटिस देने के मामले में महेश जोशी ने कहा कि  मैंने एसीबी में करीब 2 साल पहले यह मामला दर्ज करवाया था जिस पर पहले ही कार्रवाई हो जानी चाहिए थी। अब उनको नोटिस भेजा गया है। कानून इस मामले में ठीक से कार्रवाई करते हुए जांच करे और सच्चाई को सबके सामने लाए। मंत्री महेश जोशी ने कहा कि अब तक केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत इस मामले में वॉइस सैंपल देने से बचते रहे हैं। अगर उनको बचना नहीं होता तो वह खुद आगे बढ़कर कहते कि मेरा वॉइस सैंपल ले लीजिए ताकि दूध का दूध और पानी का पानी हो जाए लेकिन अब उनको इस मामले में नोटिस भी भेज दिया गया है। ऐसे में कानून अपना काम करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *